"class" "div".
"div" "class"=’post-footer-line post-footer-line-1′>
author

This post was written by:

Surendra Singh bhamboo

Get Free Email Updates to your Inbox!
रक्षाबंधन त्यौहार की हार्दिक शुभकामनाएं,बधाईयां    स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं     श्री डेयरी वाला बालाजी मन्दिर के पूर्व पुजारी की पुण्य तिथि पर मूर्ति स्थापना,बगड़    ले ल्यो पट्टी बरतो पढ़णों जरूर है,लक्ष्य का स्कूल    उत्तराखण्ड के कैदारनाथ मन्दिर में फंसे हैं बगड़ के लोग,उन्हे बचायें     सांझ से पहल्या मुछ्यां क मरोङी मार गली के कुत्ते फाङ ले     पैल्या लावणी करस्या,सगळी कुड़गी मालीगांव    ये कैसा मेरे देश का दुर्भाग्य ?? 18 या 16 ??    विद्वान् जन से एक सवाल ?    सभी देसवासियों को वेलेन्टाईन डे की बधाईयां    किसानों की उम्मीद, फसलें लहलाई,मालीगांव,    राजस्थान में बढ़ाई बगड़ नगर की शान,पहचान,मुकेश दाधीच    64वां गणतंत्र दिवस (जय हिन्द, जय हिन्द)    विदेशी सैलानियो के संग मकर संक्रांति की मस्ती,बगड़    पतंग उड़ा रे छौरा पतंग उड़ा , लक्ष्य,मालीगांव    ड ड ड ड ड बावलिया बाबा की संदेश यात्रा,बगड़    ये लो फिर एक नया वर्ष हो मुबारक    इस शताब्दी(सदी) के 12 12 12 को सलाम    दीपावली के कुछ खूबसूरत जगमगाते नजारे,बगड़    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं     धन-तेरस मार्केट सजावट और खरीदारी,बगड़    नवरात्रा प्रारम्भ, घर-घर व मन्दिरों में घट स्थापना,बगड़    कटरा से मां वैष्णो देवी के दरबार तक    वाघा (बाघा) बार्डर परेड,अमृतसर    अमृतसर, स्वर्ण मंदिर दर्शन    घुमंत् फिरत चलो मां वैष्णो देवी के दरबार    अन्दाज अपना-अपना (मानव जाति के शौकीन आधुनिक पूर्वज)    ईद मुबारक-ईद मुबारक    स्वतंत्रता दिवस और भारत देश ??? स्वतंत्रता ???    छोटो सो प्यारो सो म्हारो मदन-गोपाल,जन्माष्टमी     फिर लौटकर आयी किसानो की उम्मीद बारिश,बगड़    रक्षाबंधन की हार्दिक बधाईयां    मायड़ भाषा राजस्थानी री शान बढ़ावण हाळा ब्लॉग    सावन की पहली झमाझम मानसूनी वर्षा    रोज सुबह की मस्ती खरगोश के बच्चों के साथ, लक्ष्य    बगड़ के कुछ धार्मिक, शैक्षिक, दर्शनीय स्थल    चलायें अपनी मर्जी से अपने कम्प्यूटर की विन्डोज    बालाजी के आशीर्वाद के साथ लक्ष्य का दुसरा जन्म दिन    बेचारा जमींदार झेल रहा सर्दी और सरकार की मार    होली पर्व की हार्दिक शुभकामनाएं    परण्या नाचण दे फागण मै काळजो बळ बळ गावे रे...    सोनू की जिद और नाहरगढ़ दर्शन,जयपुर    अब डॉट कॉम की जगह डॉट इन    गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं    ये काटा वो मारा के साथ बगड़ की मकर-संक्रांति    नव वर्ष 2012 की हार्दिक शुभकामनाएं, मालीगांव    मेरे बाप पहले आप( लक्ष्य का बाल हट )    कड़ाके दार सर्दी घने कोहरे के साथ,मालीगांव    सी.सी. सड़क का लोकार्पण करने पहुचे कांग्रेस राज्य मंत्री, बृजेन्द्र ओला,बगड़    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं,बगड़ बाजार की रौनक के साथ    स्टेज की कला के समतुल्य हैं, सड़क की कला    जहां आज भी लोग समय निकालकर आते हैं, प्रसिद्ध रामलीला, बगड़    झांकी, नाचते- गाते किया विर्षजन,बगड़    जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं    प्यारा सजा है तेरा द्वार भवानी, बगड़    गणेश महोत्सव विसर्जन झांकी के मन मोहक दृश्य पीरामल गेट ,बगड़    एक शाम गणपति बप्पा के नाम पीरामल गेट बगड़    गणेश चतुर्थी महोत्सव शुरू, पीरामल गेट,बगड़    झिरी गांव की कहानी (दास्तां) रमेश फुलवारिया की जुबानी    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं    राखी का त्यौहार भाई बहन का प्यार    याराना यार का .......    किसानों ने उठाया अपना टूल (औजार) मालीगांव    क्या आप अपने कम्प्यूटर में यह कर सकते हैं ?..... कदापि नहीं    बस व स्कॉरपियो की जबरदस्त टक्कर,बगड़    पराक्रमी देशभक्त, शूरवीर, महाराणा प्रताप जयन्ती पर स्पेशल    कई सालों के बाद देखने को मिला ये साजसामान (भाड़ और भड़बुजा)कासिमपुरा, मालीगांव    मजदूर दिवस स्पेशल,बगड़    जाट्यां को ही कोनी मिनखा रो भी जीवणों दुबर होग्यो, कारण यो जीव (लट,कातरो)    दिनभर सड़कें रही सुनसान व दुकाने तरसी ग्राहक को कारण देखिए ?    होली की मस्ती और रंग गुलाल के संग फिर हम कैसे पिछे हटने वाले थे ? लक्ष्य    "हेलो आयो रे बाबा श्याम बुलायो रे" बाबा श्याम की मन मोहक झांकी ,बगड़    वेलेंटाईन्स डे की बधाईयां    खादी का बोलबाला (कर्त्तव्यनिष्ठ, निष्पक्ष, निस्वार्थ भाव से कार्य बनाम तबादला) यह है जनतंत्र    दुनिया में ऐसा भी होता है।    कोहरे के मौसम में , इन्हे भी नहाने के लिए गर्म पानी चाहिए    अब दस को बस 11 का स्वागत    सरसों की फसल और सर्दी परवान पर,मालीगांव    शेखावाटी में होने वाली शादीयों के विचित्र रिवाज    भूखे भक्तों को भगवान , भोजन कब पहुचाओगे    दीपावली की धूम की सजावट का अपना अपना नया अंदाज,बगड़    दीपक का प्रकाश हर पल आपके जीवन में एक नई रोशनी दे    घमसो मैया मन्दिर धौलपुर एक शेषनाग फनी पर्वत और प्राकृतिक झरने का अदभुत दृश्य स्थल    दो दिन से दलदल में फसी गाय को बचाकर हमने पुन्य प्राप्त किया लेकिन नगरपालिका बगड़ लापरवाह    रोडवेज बस चालक की सुजबुझ ने बचाई 30 सवारियों की जान    जितनी लम्बी सौर सुलभ हो उतने ही तो पग फैलाएं ( ज्वलन्त समस्या)    बगड़ की रामलीला का रंगमंच और चलचित्र    प्रसिद्ध हैं बगड़ की रामलीला, इसे देखकर क्या कहें?    मां भवानी के दरबार बगड़ में हुई आरती के विडियों और झुमते भक्त जन    जहां आकर मन को शान्ति मिले ,दुर्गाष्टमी पर बगड़ में सजा मां दुर्गे का दरबार    दिन दिन गिरता जा रहा शिक्षा का स्तर    कोई बड़ी बात नहीं है, भारत में    कभी फुरसत हो तो जगदम्बे निर्धन के घर भी आ जाना    जय मां नवदुर्गा सारा जग तेरे सहारे,तुझे मां मां पुकारे    चूहों की कुछ अनदेखी तस्वीरें.. फोटोग्राफर जीन लुइस क्लेन और मेरी हुबर्ट    ये लो आप भी हंस दिये, हंसो .. हंसो .. हसंना अच्छी बात है।    विचित्र प्रकार के हवा में उडने वाले सांप,हरे रंग के सांप    श्राद्ध पक्ष (पितृ पक्ष में क्यों की जाती है, कौवे की मनुहार और आवभगत) ?    किसानों की उम्मीद पर फिरा पानी    बाजरे का एक पौधा जिसके 35 सिट्टे    प्राकृतिक छटाएं (दृश्य) जो मन को मोह ले    रंगारंग सांस्कृतिक भजन संध्या जिसने सबका मन मोह लिया    मन मोहक नजारा श्री गणेश चतुर्थी उत्सव पर सजाई गई मूर्तियां    गणपति बप्पा मौरया अबके बरस तूं जल्दी आ    ईद की शुभकामनाएं    रेगिस्तान का जहाज एक नये अंदाज में    जन्माष्टमी की हार्दिक बधाईयां    मेरे नये एगरीगेटर पर आपका स्वागत है।    अजब -गजब की चिज है स्वाद बेमिसाल    चुनाव परिणाम    स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाओं के साथ    हर्ष उल्लास का पर्व तीज    चुनावी सरगम    मित्रता दिवस स्पेशल    सावन आया झुम के    पळका    चित्रकारी और शिल्प कला,का बेजोड़ नमूना बगड़ का मोती महल    इन दिनों रिज़ल्ट की साइट बन रही है औपरेटिंग सिस्टम और यूजर की जान का फंदा    अनूठी दुनियां के अनूठे लोग    क्रिकेट व आधुनिकरण ने ली आंचलिक (ग्रामीण ) खेलों की जान    झुन्झुनूं जिले का गौरव बढ़ाने का जज्बा    कुदरत का कमाल चूहे के कांटेदार बाल    तैन कुण कहवै री काळी,    10 करोड़ कण्ठां रमती मां भाषा राजस्थानी    राजस्थान रोड़वेज की लापरवाही कहें या भूल ?      

Wednesday, March 16, 2011

"हेलो आयो रे बाबा श्याम बुलायो रे" बाबा श्याम की मन मोहक झांकी ,बगड़

 बगड़, में बाबा श्री श्याम जी की मन मोहक झांकी
सभी पाठको, ब्लागर बन्दुओ को आने वाले रंगों भरे पर्व होली की हार्दिक शुभकामनाएं

फागण का मस्त महिना चल रहा हैं फागण महिने का नाम सुनते ही मन  चंग और ढ़प  की थाप पर नाचने को करता है। गावं में जहा रात को ढ़प पर धमाल चलते है और नृत्य होता है। हालांकि आज कल बिते सालों वाली बात नहीं रही  हिन्दू संस्कृति के त्यौहार का ह्रास होता जा रहा है। फिर भी कुछ गांवों में ये  सब आज भी देखने को मिल जाता हैं,  



आज मैं आपको बगड़ नगरी में बाबा श्याम जी की बहुत ही सुन्दर और मनमोहक झाकी दिखाने जा रहा हूं जिसमें घोड़ी नृत्य ऊँट नृत्य के साथ ढ़प व चंग पर नृत्य प्रमुख था इसमें विभिन्न देवताओं की झाकिया भी सजाई, ये झांकि बगड़ के तिराहा स्टेण्ड निकट श्री श्याम मन्दिर से चलकर बी.एल. चैक बगड़ से होकर मैने बाजार में घूमकर वापस श्री श्याम मन्दिर तक पहुँची बहुत से श्याम भक्तो ने झांकी का लुप्त उठाया

मण्डावा की सुप्रसिद्घ चंग व ढ़प मण्डली द्वारा कई करतब दिखाये गये जैसे ढ़प पर चढ़कर नृत्य और बांसुरी की सुरीली आवाज जो हर किसी के मन को मोह सकती है। और वो नगाड़े  व ढ़प की गुज जो चारो तरफ का माहौल मद मस्त बनाती हैं जिस पर हर किसी का नृत्य करने का मन बनता है।


 विभिन्न देवताओं का रूप धरे ये बाल कलाकार वास्तव में हर किसी का मन मोह सकते हैं



 नंगाड़ा बजाता मण्डावा  मण्डली का कलाकार

 ढ़प और धमाल पर शेखावाटी की शान "साफा" लगाकर  नाचते भक्त  और कलाकार
 ढ़प के उपर नाचती मण्डावा फतेहपुर की कलाकार

 ढ़प व चंग की सुरीली आवाज पर  पर नाचते बगड़ के श्री  श्याम भक्त  और मण्डली के कलाकार

झांकी का लुप्त उठाता बगड़ नगर
ये दृश्य देखकर आपका भी  नाचने का मन कर रहा होगा, तो आ जाइये हमारे गांव जहां आज भी आपको पुराने जामाने की होली  देखने को मिलेगी
आज के लिए इतना ही  ---











आपके पढ़ने लायक यहां भी है।

 

खादी का बोलबाला (कर्त्तव्यनिष्ठ, निष्पक्ष, निस्वार्थ भाव से कार्य बनाम तबादला) यह है जनतंत्र

 

दुनिया में ऐसा भी होता है।

कोहरे के मौसम में , इन्हे भी नहाने के लिए गर्म पानी चाहिए

 Maligaon शेखावाटी में होने वाली शादीयों के विचित्र रिवाज


 दीपावली की धूम की सजावट का अपना अपना नया अंदाज,बगड़

 घमसो मैया मन्दिर धौलपुर एक शेषनाग फनी पर्वत और प्...

जितनी लम्बी सौर सुलभ हो उतने ही तो पग फैलाएं ( ज्वलन्त समस्या)

गूगल वोईस अब भारत के लिए भी
 


8 comments:

  1. दोस्तों! अच्छा मत मानो कल होली है.आप सभी पाठकों/ब्लागरों को रंगों की फुहार, रंगों का त्यौहार ! भाईचारे का प्रतीक होली की शकुन्तला प्रेस ऑफ़ इंडिया प्रकाशन परिवार की ओर से हार्दिक शुभमानाओं के साथ ही बहुत-बहुत बधाई!



    आप सभी पाठकों और दोस्तों से हमारी विनम्र अनुरोध के साथ ही इच्छा हैं कि-अगर आपको समय मिले तो कृपया करके मेरे (http://sirfiraa.blogspot.com , http://rksirfiraa.blogspot.com , http://shakuntalapress.blogspot.com , http://mubarakbad.blogspot.com , http://aapkomubarakho.blogspot.com , http://aap-ki-shayari.blogspot.com , http://sachchadost.blogspot.com, http://sach-ka-saamana.blogspot.com , http://corruption-fighters.blogspot.com ) ब्लोगों का भी अवलोकन करें और अपने बहूमूल्य सुझाव व शिकायतें अवश्य भेजकर मेरा मार्गदर्शन करें. आप हमारी या हमारे ब्लोगों की आलोचनात्मक टिप्पणी करके हमारा मार्गदर्शन करें और अपने दोस्तों को भी करने के लिए कहे.हम आपकी आलोचनात्मक टिप्पणी का दिल की गहराईयों से स्वागत करने के साथ ही प्रकाशित करने का आपसे वादा करते हैं

    ReplyDelete
  2. हर वो भारतवासी जो भी भ्रष्टाचार से दुखी है, वो देश की आन-बान-शान के लिए समाजसेवी श्री अन्ना हजारे की मांग "जन लोकपाल बिल" का समर्थन करने हेतु 022-61550789 पर स्वंय भी मिस्ड कॉल करें और अपने दोस्तों को भी करने के लिए कहे. यह श्री हजारे की लड़ाई नहीं है बल्कि हर उस नागरिक की लड़ाई है जिसने भारत माता की धरती पर जन्म लिया है.पत्रकार-रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा"

    ReplyDelete
  3. भ्रष्टाचारियों के मुंह पर तमाचा, जन लोकपाल बिल पास हुआ हमारा.

    बजा दिया क्रांति बिगुल, दे दी अपनी आहुति अब देश और श्री अन्ना हजारे की जीत पर योगदान करें

    आज बगैर ध्रूमपान और शराब का सेवन करें ही हर घर में खुशियाँ मनाये, अपने-अपने घर में तेल,घी का दीपक जलाकर या एक मोमबती जलाकर जीत का जश्न मनाये. जो भी व्यक्ति समर्थ हो वो कम से कम 11 व्यक्तिओं को भोजन करवाएं या कुछ व्यक्ति एकत्रित होकर देश की जीत में योगदान करने के उद्देश्य से प्रसाद रूपी अन्न का वितरण करें.

    महत्वपूर्ण सूचना:-अब भी समाजसेवी श्री अन्ना हजारे का समर्थन करने हेतु 022-61550789 पर स्वंय भी मिस्ड कॉल करें और अपने दोस्तों को भी करने के लिए कहे. पत्रकार-रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा" सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है, देखना हैं ज़ोर कितना बाजू-ऐ-कातिल में है.

    ReplyDelete
  4. देश और समाजहित में देशवासियों/पाठकों/ब्लागरों के नाम संदेश:-
    मुझे समझ नहीं आता आखिर क्यों यहाँ ब्लॉग पर एक दूसरे के धर्म को नीचा दिखाना चाहते हैं? पता नहीं कहाँ से इतना वक्त निकाल लेते हैं ऐसे व्यक्ति. एक भी इंसान यह कहीं पर भी या किसी भी धर्म में यह लिखा हुआ दिखा दें कि-हमें आपस में बैर करना चाहिए. फिर क्यों यह धर्मों की लड़ाई में वक्त ख़राब करते हैं. हम में और स्वार्थी राजनीतिकों में क्या फर्क रह जायेगा. धर्मों की लड़ाई लड़ने वालों से सिर्फ एक बात पूछना चाहता हूँ. क्या उन्होंने जितना वक्त यहाँ लड़ाई में खर्च किया है उसका आधा वक्त किसी की निस्वार्थ भावना से मदद करने में खर्च किया है. जैसे-किसी का शिकायती पत्र लिखना, पहचान पत्र का फॉर्म भरना, अंग्रेजी के पत्र का अनुवाद करना आदि . अगर आप में कोई यह कहता है कि-हमारे पास कभी कोई आया ही नहीं. तब आपने आज तक कुछ किया नहीं होगा. इसलिए कोई आता ही नहीं. मेरे पास तो लोगों की लाईन लगी रहती हैं. अगर कोई निस्वार्थ सेवा करना चाहता हैं. तब आप अपना नाम, पता और फ़ोन नं. मुझे ईमेल कर दें और सेवा करने में कौन-सा समय और कितना समय दे सकते हैं लिखकर भेज दें. मैं आपके पास ही के क्षेत्र के लोग मदद प्राप्त करने के लिए भेज देता हूँ. दोस्तों, यह भारत देश हमारा है और साबित कर दो कि-हमने भारत देश की ऐसी धरती पर जन्म लिया है. जहाँ "इंसानियत" से बढ़कर कोई "धर्म" नहीं है और देश की सेवा से बढ़कर कोई बड़ा धर्म नहीं हैं. क्या हम ब्लोगिंग करने के बहाने द्वेष भावना को नहीं बढ़ा रहे हैं? क्यों नहीं आप सभी व्यक्ति अपने किसी ब्लॉगर मित्र की ओर मदद का हाथ बढ़ाते हैं और किसी को आपकी कोई जरूरत (किसी मोड़ पर) तो नहीं है? कहाँ गुम या खोती जा रही हैं हमारी नैतिकता?

    मेरे बारे में एक वेबसाइट को अपनी जन्मतिथि, समय और स्थान भेजने के बाद यह कहना है कि- आप अपने पिछले जन्म में एक थिएटर कलाकार थे. आप कला के लिए जुनून अपने विचारों में स्वतंत्र है और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता में विश्वास करते हैं. यह पता नहीं कितना सच है, मगर अंजाने में हुई किसी प्रकार की गलती के लिए क्षमाप्रार्थी हूँ. अब देखते हैं मुझे मेरी गलती का कितने व्यक्ति अहसास करते हैं और मुझे "क्षमादान" देते हैं.
    आपका अपना नाचीज़ दोस्त रमेश कुमार जैन उर्फ़ "सिरफिरा"

    ReplyDelete
  5. दोस्तों, क्या सबसे बकवास पोस्ट पर टिप्पणी करोंगे. मत करना,वरना......... भारत देश के किसी थाने में आपके खिलाफ फर्जी देशद्रोह या किसी अन्य धारा के तहत केस दर्ज हो जायेगा. क्या कहा आपको डर नहीं लगता? फिर दिखाओ सब अपनी-अपनी हिम्मत का नमूना और यह रहा उसका लिंक प्यार करने वाले जीते हैं शान से, मरते हैं शान से (http://sach-ka-saamana.blogspot.com/2011/04/blog-post_29.html )

    ReplyDelete
  6. श्रीमान जी, मैंने अपने अनुभवों के आधार ""आज सभी हिंदी ब्लॉगर भाई यह शपथ लें"" हिंदी लिपि पर एक पोस्ट लिखी है. मुझे उम्मीद आप अपने सभी दोस्तों के साथ मेरे ब्लॉग www.rksirfiraa.blogspot.com पर टिप्पणी करने एक बार जरुर आयेंगे. ऐसा मेरा विश्वास है.

    ReplyDelete
  7. श्रीमान जी, क्या आप हिंदी से प्रेम करते हैं? तब एक बार जरुर आये. मैंने अपने अनुभवों के आधार ""आज सभी हिंदी ब्लॉगर भाई यह शपथ लें"" हिंदी लिपि पर एक पोस्ट लिखी है. मुझे उम्मीद आप अपने सभी दोस्तों के साथ मेरे ब्लॉग www.rksirfiraa.blogspot.com पर टिप्पणी करने एक बार जरुर आयेंगे. ऐसा मेरा विश्वास है.
    श्रीमान जी, हिंदी के प्रचार-प्रसार हेतु सुझाव :-आप भी अपने ब्लोगों पर "अपने ब्लॉग में हिंदी में लिखने वाला विजेट" लगाए. मैंने भी कल ही लगाये है. इससे हिंदी प्रेमियों को सुविधा और लाभ होगा.

    ReplyDelete
  8. प्रिय दोस्तों! क्षमा करें.कुछ निजी कारणों से आपकी पोस्ट/सारी पोस्टों का पढने का फ़िलहाल समय नहीं हैं,क्योंकि 20 मई से मेरी तपस्या शुरू हो रही है.तब कुछ समय मिला तो आपकी पोस्ट जरुर पढूंगा.फ़िलहाल आपके पास समय हो तो नीचे भेजे लिंकों को पढ़कर मेरी विचारधारा समझने की कोशिश करें.
    दोस्तों,क्या सबसे बकवास पोस्ट पर टिप्पणी करोंगे. मत करना,वरना......... भारत देश के किसी थाने में आपके खिलाफ फर्जी देशद्रोह या किसी अन्य धारा के तहत केस दर्ज हो जायेगा. क्या कहा आपको डर नहीं लगता? फिर दिखाओ सब अपनी-अपनी हिम्मत का नमूना और यह रहा उसका लिंक प्यार करने वाले जीते हैं शान से, मरते हैं शान से
    श्रीमान जी, हिंदी के प्रचार-प्रसार हेतु सुझाव :-आप भी अपने ब्लोगों पर "अपने ब्लॉग में हिंदी में लिखने वाला विजेट" लगाए. मैंने भी लगाये है.इससे हिंदी प्रेमियों को सुविधा और लाभ होगा.क्या आप हिंदी से प्रेम करते हैं? तब एक बार जरुर आये. मैंने अपने अनुभवों के आधार आज सभी हिंदी ब्लॉगर भाई यह शपथ लें हिंदी लिपि पर एक पोस्ट लिखी है.मुझे उम्मीद आप अपने सभी दोस्तों के साथ मेरे ब्लॉग एक बार जरुर आयेंगे. ऐसा मेरा विश्वास है.
    क्या ब्लॉगर मेरी थोड़ी मदद कर सकते हैं अगर मुझे थोडा-सा साथ(धर्म और जाति से ऊपर उठकर"इंसानियत" के फर्ज के चलते ब्लॉगर भाइयों का ही)और तकनीकी जानकारी मिल जाए तो मैं इन भ्रष्टाचारियों को बेनकाब करने के साथ ही अपने प्राणों की आहुति देने को भी तैयार हूँ.
    अगर आप चाहे तो मेरे इस संकल्प को पूरा करने में अपना सहयोग कर सकते हैं. आप द्वारा दी दो आँखों से दो व्यक्तियों को रोशनी मिलती हैं. क्या आप किन्ही दो व्यक्तियों को रोशनी देना चाहेंगे? नेत्रदान आप करें और दूसरों को भी प्रेरित करें क्या है आपकी नेत्रदान पर विचारधारा?
    यह टी.आर.पी जो संस्थाएं तय करती हैं, वे उन्हीं व्यावसायिक घरानों के दिमाग की उपज हैं. जो प्रत्यक्ष तौर पर मनुष्य का शोषण करती हैं. इस लिहाज से टी.वी. चैनल भी परोक्ष रूप से जनता के शोषण के हथियार हैं, वैसे ही जैसे ज्यादातर बड़े अखबार. ये प्रसार माध्यम हैं जो विकृत होकर कंपनियों और रसूखवाले लोगों की गतिविधियों को समाचार बनाकर परोस रहे हैं.? कोशिश करें-तब ब्लाग भी "मीडिया" बन सकता है क्या है आपकी विचारधारा?

    ReplyDelete

author

This post was written by:

Surendra Singh bhamboo

Get Free Email Updates to your Inbox!